शायरी।

बात थी तो बहुत ही छोटी सी,

पर बात थी बड़ी पते की।